जहांगीरपुरी हिंसा मामले के आरोपी को सुप्रीम कोर्ट ने जमानत दी, जाने पूरी खबर

Jahangirpuri violence

Jahangirpuri violence

जहांगीरपुरी हिंसा मामले में 18 वर्षीय आरोपी को जमानत देते हुए कोर्ट ने कहा है कि वह उम्र के नाजुक पड़ाव पर है और उसके खिलाफ जांच पूरी हो गयी है | युवक पर पिस्तौल लेकर हिंसा में सक्रियता से भाग लेने का आरोप था उस पर दंगा, हमला करने समेत विभिन्न अपराधों के लिए भारतीय दंड संहिता और शस्त्र अधिनियम के प्रावधानों के तहत आरोप लगाए गए थे अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश स्मिता गर्ग ने कहा कि याचिकाकर्ता का कोई सीसीटीवी फुटेज नहीं मिला और घटना में इस्तेमाल हथियार पहले ही बरामद कर लिया गया है | अदालत ने कहा कि याचिकाकर्ता को 16 अप्रैल 2022 को चाइल्ड इन कनफ्लिक्ट लॉ के तहत पकड़ा था और जमानत पर रिहा कर दिया गया था, लेकिन उसे वयस्क पाए जाने के बाद दोबारा गिरफ्तार किया गया |

अदालत ने जहांगीरपुरी हिंसा मामले में 18 वर्षीय आरोपी को दी जमानत

न्यायमूर्ति योगेश खन्ना ने अपनी टिप्पणी में कहा कि आरोपी, जो अप्रैल माह से हिरासत में है, उसकी सीसीटीवी फुटेज में पहचान नहीं हुई है, अदालत ने आरोपी को 20,000 रुपये की जमानत राशि पर जमानत दे दी। अदालत ने 24 अगस्त के अपने आदेश में कहा था, याचिकाकर्ता की किसी भी सीसीटीवी फुटेज में पहचान नहीं हुई है। कोर्ट ने उसकी उम्र देखते हुए कि जोकि करीब 18-19 वर्ष है और वह 4 अप्रैल 2022 से हिरासत में है। क्योंकि आरोप पत्र दाखिल हो चुका है, इसलिए याचिकाकर्ता के खिलाफ कोर्ट की तरफ से जांच पूरी मानी जाएगी। और कोर्ट ने कहा है जांच के लिए याचिकाकर्ता की अब कोई जरूरत नहीं है, उसे जमानत दी जाती है

दिल्ली हाई कोर्ट

अदालत ने जहांगीरपुरी हिंसा मामले में आरोपी को दिए निर्देश आपको बता दें कि जहांगीरपुरी हिंसा मामले में 18 वर्षीय आरोपी को जमानत देते हुए कोर्ट ने याचिकाकर्ता को इलाके में शांति बनाए रखने और निचली अदालत से अनुमति लिए बिना राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र से बाहर नहीं जाने के निर्देश दिए। और याचिकाकर्ता को जमानत दे दी है |

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *