मिशन-2024 का बीड़ा उठाते हुए नीतीश कुमार ने दिल्ली प्रवास पर विपक्षी  नेताओं से मुलाकात की, जाने क्या है पूरी खबर

NITISH-AND-ARVIND

NITISH-AND-ARVIND

दरअसल, नीतीश कुमार ने 2024 के चुनाव का बीड़ा उठाते हुए बीजेपी के खिलाफ विपक्षी एकता की कोशिश में जुटे नीतीश कुमार दिल्ली प्रवास के दौरान सोमवार से लेकर बुधवार तक 10 विपक्षी दलों के नेताओं से मुलाकात की है | विपक्षी दलों के नेताओं ने नीतीश कुमार की इस कोशिश का समर्थन करते हुए समर्थन का वादा भी किया है | अब सवाल यह है कि जिन दस विपक्षी नेताओं से नीतीश कुमार मिले हैं, अब इस बात पर निर्भर करता है कि उनकी सियासी ताकत क्या है, जिसके दम पर 2024 में बीजेपी को सत्ता में मात दे पाएंगे?

बीजेपी के खिलाफ विपक्षी एकता की कोशिश में जुटे नीतीश कुमार

बता दें कि, नीतीश कुमार ने पहले दिन सोमवार को सबसे पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी से मुलाकात की थी, फिर जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी से मिले और दूसरे दिन मंगलवार को नीतीश ने सीपीएम महासचिव सीताराम यचुरी, सीपीआई के महासचिव डी राजा से मिले | इसके बाद सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और उनके पिता मुलायम सिंह यादव से गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में जाकर मुलाकात की और फिर इनेलो के ओम प्रकाश चौटाला से मिले और उसी दिन आम आदमी पार्टी के अरविंद केजरीवाल और अपने पुराने मित्र शरद यादव से मिलकर बीजेपी के खिलाफ राजनितिक एकता की कोशिश में जुटे | आपको बता दें कि, अपने दौरे के तीसरे दिन बुधवार को एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार और भाकपा माले के महासचिव दीपांकर भट्टाचार्य से मुलाकात की | अब इस मुलाकात के बाद नीतीश ने पत्रकारों से कहा कि ममता बनर्जी से भी बात हुई है और सोनिया गांधी से भी बाद में मिलकर विपक्षी एकता मजबूत करेंगे और विपक्षी एकता की मुहिम जारी रहेगी और कहा है कि सभी विपक्षी नेता एक साथ बैठकर सहमति बना लेंगे | नीतीश कुमार की ये कोशिश से ये अंदाजा लगाया जा रहा है कि अगर सभी विपक्षी नेता एकजुट होते है तो क्या बीजेपी के लिए 2024 की राह चुनौतीपूर्ण  होने वाली है?

नीतीश कुमार-अरविंद केजरीवाल

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *