पोलैंड के कब्रिस्तान में मिला महिला पिशाच का कंकाल “vampire skeletons”

female vampire skeleton in Poland

female vampire skeleton in Poland

पोलैंड में रिसर्च कर रहे शोधकर्ताओं को एक महिला के शव के अवशेष मिले हैं जिस पर गले में एक धार दार अवजार जैसा सामान और पैरों में विशेष तरह का त्रिकोणीय पैडलॉक नज़र आ रहा है ये शव पोलैंड के पाईक गांव के एक कब्रगाह में पाया गया है। यदि यहां की प्राचीन मान्यताओं को जानें तो ऐसा इस लिए होता है ताकि मृत वापस दोबारा दुनिया में ना आने पाए जिसे लोग पिशाच मानाते थे उनके साथ मृत्यु के बाद होता था।

रिसर्च करने वाले वैज्ञानिक का मानना है कि उस पीरियड में दरांती और ताला इस लिए लगाया जता था ताकि “मृतक की वापसी से रोका जा सके, शायद ऐसी आशंका थी कि मृतक वेंपायर हो सकता है। और उस समय शव के साथ ऐसा करना वेंपायर को रोकने के लिए किया जाता था।” पोलैंड में उस जमाने में जिन्हें खतरनाका माना जाता था उनके शव पर ब्लेड नुमा अवजार गर्दन पर रखा जाता था। ताकि यदि मृतक “उठने” की कोशिश करता तो इस अवजार से उसका सिर काट दिया जाएगा।

“vampire skeletons”

पोलैंड में यह अफवाह 17वीं शताब्दी में वैम्पायर की दहशत की आम हो गई थी। रिसर्चर पोलांस्की ने बताया कि उस जमाने में कृषि अवजार दरांती को रखने के आलावा कभी-कभी लाशों को जलाया भी जाता था, पत्थरों से तोड़ा जाता था या वैम्पायर घोषित होने पर सिर और पैर काट दिए जाते थे।

इस कथित महिला वैम्पायर के अवशेष के मिलने के बाद विशेषज्ञ क्षेत्र में नई तकनीकों की मदद से कब्रिस्तानों में और रिसर्च करने की योजना बना रहे हैं। इसके अलावा, पोलैंड के क्राको विश्वविद्यालय में स्थित पुरातत्व विभाग के शोधकर्ता मृत महिला के बारे में अधिक जानने के लिए इस कंकाल का डीएनए टेस्ट कराने की सोच रहे हैं।

“vampire skeletons”

पोलैंड में इस तरह की ये पहली खोज नहीं है, अमेरिका के दक्षिण अलबामा विश्वविद्यालय के रिसर्चर लेस्ली ग्रेगोरिका के नेतृत्व में पुरातत्वविदों को 2014 में भी उत्तर पश्चिमी पोलैंड में एक कब्रिस्तान में छह तथाकथित “पिशाच कंकाल” मिले थे।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *