महारानी एलिजाबेथ के निधन के बाद उनके ताज में लगे भारत के कोहिनूर हीरे का क्या होगा ?

Kohinoor diamond

Kohinoor diamond

दरअसल ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का 96 साल की उम्र में अचानक निधन हो गया। अब आपको बता दें कि महारानी जिस ताज को खास कार्यक्रमों में पहना करतीं थीं, उसी ताज में भारत का मशहूर हीरा कोहिनूर लगा है । लेकिन अब लोगों के मन में सबसे बड़ा सवाल है कि आखिर महारानी की मौत के बाद कोहिनूर हीरा भला किसका होगा । बात करें सोशल मीडिया या मीडिया कि तो एलिजाबेथ द्वितीय के निधन के बाद से ट्विटर पर कोहिनूर ट्रेंड कर रहा है और लोग इसे लेकर सवाल पूछ रहे हैं । बता दें कि असल में महारानी का ये मुकुट अगली महारानी को सौंपा जाएगा ।

Queen Elizabeth's Crown
Queen Elizabeth’s Crown

महारानी एलिजाबेथ के मुकुट में लगा कोहिनूर हीरा
आपको बात दें कि जिस मुकुट की बात ट्रेंड हो रही हैं असल में 1937 मे इस ताज को राजा जॉर्ज छठे की ताजपोशी के लिए में बनवाया गया था। और आपको बता दें कि ताज में कई कीमती पत्थर भी लगे हैं। ताज में तुर्की के तत्कालीन सुल्तान द्वारा महारानी विक्टोरिया को तोहफे में दिया गया एक बड़ा पत्थर भी लगा था । ये तुर्की के तत्कालीन सुल्तान ने क्रीमिया युद्ध में ब्रिटिश सेना के समर्थन के प्रति अपना आभार व्यक्त करने के लिए दिया था। आपको बता दें कि कोहिनूर 105 कैरेट का हीरा है, जो प्लेटिनम के एक माउंट के साथ ताज से जुड़ा हुआ है।

Kohinoor diamond

कोहिनूर हीरे का इतिहास
बता दें कि कई सौ साल पहले भारत में एक चमचमाता पत्थर मिला था, जिसे कोहिनूर नाम दिया गया था | आपको बता दें कि ये दुनिया के सबसे बड़े हीरे में से एक माना जाता है । बताया जाता है कि ये हीरा भारत की गोलकुंडा खदान में मिला था । कोहिनूर के साथ एक अफवाह भी जुड़ी है कि ये हीरा स्त्री स्वामियों के लिए भाग्यशाली है और पुरुष स्वामियों के लिए ये दुर्भाग्य और मृत्यु का कारण बन सकता है ।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *