February 27, 2024

चीन का सुसाइड ड्रोन अमेरिका के F-35 प्‍लेन को सेकंडो में बर्बाद कर सकता है, जाने इसकी ताकत के बारे में

China Deadly Suicide Drone

China Deadly Suicide Drone

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि बीते मंगलवार को ताइवान की मिलिट्री ने चीन के ड्रोन पर फायरिंग कर दी | बता दें जब ताइवान के किनमेन द्वीप पर चीनी ड्रोन जब दाखिल होने की कोशिश कर रहा था तो अपने जॉन से खदेड़ने के लिए ताइवान ने गोलियां चला दीं | हांलाकि यह ड्रोन था कौन सा, इस बारे में तो कोई पुख्ता जानकारी सामने नहीं आई है। लेकिन अगर सूत्रों की माने तो चीन ने अपने हाइपरसोनिक ड्रोन को ताइवान के द्वीप की तरफ भेजा था । साल 2019 में चीन ने अपने इस ड्रोन को टेस्‍ट किया था। पहली बार झुहाई एयर शो में इस ड्रोन की झलक दुनिया ने देखी थी। तो बता दें चीन के इस हाइपरसोनिक ड्रोन एक रहस्‍यमय हथियार करार दिया जाता है ।

China Suicide Drone

चीन के हाइपरसोनिक सुसाइड ड्रोन की विशेषता
आपको बता दें कि चीन का यह काले रंग का ड्रोन हाइपरसोनिक फ्लाइट की स्‍पीड से उड़ सकता है। सूत्रों की माने तो इस ड्रोन को तैयार करने में वैज्ञानिकों के सामने सबसे बड़ा चैलेंज इसकी स्‍पीड को लेकर था लेकिन बड़ी मशक्कत के बाद आखिरकार इसने वह बाधा भी पार कर ली थी। बता दें चीन की वायुसेना के टॉप रिसर्चस फेई दाई ने दावा किया था कि मानवरहित यह एयरक्राफ्ट किसी स्‍टैंडर्ड रनवे पर आवाज की स्‍पीड से पांच गुना तेजी से उड़ सकता है। अगर उनके दावे की माने तो इस ड्रोन के इंजन को रनवे से अगर 250 किलोमीटर पहले से भी बंद कर दिया जाए तो भी यह आसानी से लैंड कर सकता है | कुछ चीनी रिसर्चर ने यह भी दावा किया था कि हाइपरसोनिक ड्रोन को अमेरिका के एफ-22 और एफ-35 जैसे फाइटर जेट्स के खिलाफ प्रयोग किया जाये तो यह कुछ ही टाइम में उन्हें नष्ट कर देगा |

China Suicide Drone

चीन के हाइपरसोनिक सुसाइड ड्रोन की स्पीड
सूत्रों की माने तो चीन के हाइपरसोनिक सुसाइड ड्रोन की स्पीड मैक 5 यानी 6174 किलोमीटर प्रति घंटे की है। यह हाइपरसोनिक सुसाइड ड्रोन इतनी ज्यादा स्पीड से उड़ सकता है | दरअसल इस ड्रोन को डेवलप करने का मकसद कई रेंज वाली टेक्‍नोलॉजी के क्षेत्र में चीन की लीडरशिप मजबूत करना था | आपको बता दें इस सुसाइड ड्रोन के बाद चीनी सेना के पास वह खास हथियार आ गया है जो किसी के पास नहीं है । इस ड्रोन की कहास विशेषताओं में से एक यह है की ये ड्रोन खराब स्थितियों में भी उड़ सकता है और दुश्‍मन की जनरल इंटेलीजेंस के अलावा खास लक्ष्‍य वाली जानकारियां भी हासिल करके दे सकता है।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *