February 27, 2024

Navratri 2022: मां दुर्गा शेर पर नहीं बल्कि हाथी पर सवार होकर आएंगी इस बार, क्या है इसके पीछे का बड़ा कारण

Navratri 2022:पितृपक्ष खत्म होते ही मां शारदा का आगमन इस धरती पर होने वाला है लोगों के इस वर्ष की शारदीय नवरात्रि के आने का बेसब्री से इंतजार है। मा देवी के आगमन से पहले ही मदिंर से लेकर घर पंडाल सजने सवरने लगे हैं। इस साल नवरात्रि की शुरूआत आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि यानी 26 सितंबर दिन सोमवार से प्रारंभ होंगी। और 05 अक्टूबर को मां देवी की विदाई का कार्यक्रम शुरू होने लगेगा। नवरात्रि में मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की पूजा-उपासना की जाती है. इसमें मां दुर्गा की पूजा से मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है और जीवन के सारे दुख, दर्द दूर हो जाते हैं. ज्योतिषियों का मानना है कि इस साल मां जगदम्बा नवरात्रि में शेर से नही बल्कि हाथी पर सवार होकर आएंगी।

Durga Mata
दुर्गा माता


शारदीय नवरात्रि 26 सितंबर से शुरू हो रही है मान्यता के अनुसार, बुधवार और शुक्रवार के इन खास दिन पर माता रानी के प्रस्थान की सवारी हाथी ही होती है। जब माता रानी हाथी पर प्रस्थान करती हैं तो माना जा रहा है इस साल देश में अधिक बरसात होने की संभावना बढ़ जाती है।

Durga Mata
Durga Mata


माता की सवारी और संकेत
मां देवी के बारे में कहीं जाने वाली इन बातों को भागवत पुराण में बड़े ही विस्तार से बताई गई है। जिससे संबंधित एक श्लोक भी है, जिससे आप जान सकते हैं कि किस दिन किस सवारी से माता धरती पर पधारती हैं.
शशि सूर्य गजरुढा शनिभौमै तुरंगमे।
गुरौशुक्रेच दोलायां बुधे नौकाप्रकीर्तिता॥

इस श्लोक के अनुसार, यदि नवरात्रि की शुरूआत सोमवार या रविवार के दिन से होती है तो माता सिंह पर नही बल्कि हाथी पर विराजमान होकर आती हैं। यदि वह दिन शनिवार या मंगलवार के दिन शुरू होती है तो माता घोड़े पर सवार होकर आती है और यदि शुक्रवार या गुरुवार को नवरात्रि शुरु होती है तो मातारानी डोली में आती हैं। यदि बुधवार दिन हो तो माता का आगमन नौका में होता है

Durga Mata
Durga Mata


हाथी की सवारी यानि अधिक वर्षा
इस बार मां दुर्गा हाथी पर सवार होकर आ रही हैं, इसका अर्थ यह है कि इस बार बारिश के अधिक होने के चांस है, अधिक वर्षा होने से चारों ओर हरियाली से धरती झूम उठेगी।किसानों की फसल भी अच्छी होगी। जिससे देश में अन्न के भंडार भरेंगे. संपन्नता आएगी। धन और धान्य में वृद्धि होगी।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *