एक साथ 300 एंप्लॉयीज को अपनी जॉब से हाथ धोना पड़ा, Wipro ने उठाया अहम कदम

Wipro fires 300 employees

Wipro fires 300 employees

सॉफ्टवेयर कंपनी Wipro ने अपने 300 एंप्लॉयीज को लेकर एक अहम् कदम उठाया है | अब आप सोच रहे होंगे कि ऐसा कंपनी ने क्यों किया? तो हम आपको बता दें एंप्लॉयीज के एक साथ दो कंपनियों में काम करने के लिए इतना बड़ा कदम उठाया है | एंप्लॉयीज के एक साथ दो कंपनियों में काम करने को मूनलाइटिंग कहा जाता है । Wipro के चेयरमैन Rishad Premji ने बताया है कि मूनलाइटिंग कंपनी की पॉलिसी का पूरी तरह से उल्लंघन करना माना जाता है । और उन्होंने बताया कि हमारे कुछ लोग विप्रो के साथ ही हमारे कॉम्पिटिटर्स में से एक के साथ सीधे काम कर रहे थे और हमने पिछले कुछ महीनों में ऐसे 300 एंप्लॉयीज का पता लगाया है। इसी कारणवश इन एंप्लॉयीज को कंपनी की पॉलिसी का उल्लंघन करने के लिए टर्मिनेट किया गया है ।

Wipro fires 300 employees

Wipro ने उठाया मूनलाइटिंग तहत कड़ा कदम
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मूनलाइटिंग का मतलब गुपचुप तरीके से एक अन्य जॉब को करना होता है । Wipro के चेयरमैन Rishad Premji का कहना है कि किसी एंप्लॉयी के विप्रो के साथ ही इसके कॉम्पिटिटर के साथ काम करने को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता । अगर कॉम्पिटिटर को भी इस स्थिति का पता चलेगा तो उसे भी ऐसा ही महसूस होगा | ऐसा करने से कहीं न कहीं एम्प्लोयी कंपनी के लिए अपनी विश्वश्नीयता खो देता है | और इसके अलावा प्रेमजी कहते हैं कि ट्रांसपैरेंसी के तौर पर लोग वीकेंड पर एक बैंड का हिस्सा बनने या एक प्रोजेक्ट पर काम करने के बारे में जानकारी दे सकते हैं । यह एक खुली बातचीत है और व्यक्ति इसका फैसला कर सकता है कि यह ठीक है या नहीं । Wipro के अलावा अब देश की दूसरी सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर कंपनी Infosys ने भी मूनलाइटिंग के खिलाफ कड़ा रुख अपना लिया है । कंपनी ने हाल ही में अपने एंप्लॉयीज को एक मैसेज में साफ़ निर्देश देते हुए लिखा है कि कोई दोहरा समय नहीं, कोई मूनलाइटिंग नहीं |

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *