Biogas Plant: सरकार दे रही 20 करोड़ रुपये और 1 रुपये में 1 एकड़ ज़मीन, जाने क्या करना होगा

Biogas Plant

Biogas Plant

Biogas Plant: बायोगैस एक जैव रासायनिक प्रक्रिया के माध्यम से उत्पन्न होती है, जिसमें कुछ प्रकार के बैक्टीरिया जैविक कचरे को उपयोगी बायो-गैस में परिवर्तित करते हैं । चूँकि उपयोगी गैस एक जैविक प्रक्रिया से उत्पन्न होती है, इसलिये इसे बायोगैस कहा गया है । मीथेन गैस बायोगैस का मुख्य घटक है । इसी से मुखातिव रखते हुए समय-समय पर देश और राज्य स्तर पर उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए सरकार अपनी बुनियादी जरूरतों के लिए बहुत सस्ती कीमत पर जमीन उपलब्ध कराती रहती है ताकि लोग उस उद्योग को स्थापित कर सकें और परिणामस्वरूप लोगों को रोजगार और कल्याणकारी योजनाएं का लाभ मिल सके |

Biogas Plant

योगी जी की सरकार की किसान भाइयों को बेहतरीन भेंट
उत्तर प्रदेश में योगी जी की सरकार जैव-ऊर्जा इकाइयों को प्रोत्साहित करना चाहती है ताकि किसान कृषि अपशिष्ट को खेतों में न जलाएं उत्तर प्रदेश राज्य जैव ऊर्जा नीति-2 का निर्माण जिसे कैबिनेट ने मंगलवार को मंजूरी मिल गई है | इसके लिए भूमि को अधिकतम 30 वर्ष की अवधि के लिए 1 रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से सांकेतिक पट्टा किराए पर उपलब्ध कराया जा रहा है ताकि इकाइयों की स्थापना भूमि से बाधित न हो । और इसके अलावा इकाइयों को 20 करोड़ रुपये सब्सिडी के रूप में मिलेंगे |

Biogas Plant

बायोएनेर्जी प्लांट के तहत फायदा और क्या करना होगा इसके लिए
योगी जी की सरकार की अभूतपूर्व पहल के तहत इससे हमारे किसान भाइयों को सीधा लाभ मिलेगा | आपकी जानकारी के लिए बता दें कि बायोएनेर्जी एंटरप्राइज इंसेंटिव प्रोग्राम 2018 के तहत राज्य में स्थापित होने वाले बायोएनेर्जी उद्यमों को भूमि खरीद पर स्टांप शुल्क में 100% छूट, उत्पादन की तारीख से 10 साल तक एसजीएसटी की 100% प्रतिपूर्ति और यूनिट लागत पर 25% की छूट दी जाएगी । 1 रुपये से 10 करोड़ रुपये के बीच खर्च पर 15 प्रतिशत की सब्सिडी भी मिलेगी | इसके अलावा योगी सरकार की तरफ से नीति आयोग की तर्ज पर राज्य योजना आयोग का पुनर्गठन करने का फैसला किया गया है और इसका नाम बदलकर राज्य परिवर्तन आयोग (एसटीसी) कर दिया है । एसटीसी राज्य की नीतियों को तैयार करने के लिए एक थिंक टैंक और ज्ञान भंडार के रूप में कार्यरत होगा | आपको बता दें की इसके लिए बायो-इंडस्ट्री के तहत आप बायोगैस प्लांट, खाद गैस प्लांट आदि की स्थापना कर इस योजना का पूरा लाभ उठा पाएंगे । इसके तहत आपको अपने बायोगैस प्लांट में सभी बायो-वेस्ट जैसे गाय का गोबर, फीडस्टॉक्स, बेकार फल, सब्जियां, पुआल आदि लाना होगा जिससे बिजली और अन्य ऊर्जा का उत्पादन किया जा सके |

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *