36 सैटेलाइट्स लॉन्‍च करेगा इस महीने ISRO, इंटरनेट की दुनिया में आएगी नई क्रांति

ISRO to Launch 36 Satellites

ISRO to Launch 36 Satellites

भारत का राष्ट्रीय अंतरिक्ष संस्थान, जिसका मुख्यालय बंगलौर में है । इस संस्थान में लगभग सत्रह हजार कर्मचारी एवं वैज्ञानिक कार्यरत हैं । संस्थान का मुख्य कार्य भारत के लिये अंतरिक्ष सम्बधी तकनीक उपलब्ध करवाना है । हाल ही में जानकारी मिली है कि भारतीय स्‍पेस एजेंसी ISRO इस महीने के अंत तक एक अहम मिशन को पूरा करने जा रही है । बता दें कि इसरो अपने सबसे भारी लॉन्‍चर LVM3 (लॉन्च व्हीकल मार्क III) के जरिए वनवेब (One Web) के 36 सैटेलाइट्स को अंतरिक्ष में लॉन्‍च करेगी । ISRO की कमर्शल आर्म, “न्यूस्पेस इंडिया लिमिटेड’ (NSIL) ने गुरुवार को यह जानकारी दी ।

ISRO to Launch 36 Satellites

हाई-स्पीड इंटरनेट देने की देश की अपनी योजना पर चल रहा काम
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि न्यूस्पेस इंडिया लिमिटेड ने वनवेब के साथ 2 सर्विस कॉन्ट्रैक्ट साइन किए हैं । दुनियाभर में हाई-स्पीड इंटरनेट देने की अपनी योजना के तहत वनवेब, सैटेलाइट्स को ऑर्बिट में लॉन्च कर करने की तैयारी में है । कंपनी सीधे एलन मस्‍क की स्‍टारलिंक से मुकाबला करेगी । पिछले साल दिसंबर में वनवेब ने कजाकिस्तान के बैकोनूर कॉस्मोड्रोम से भी 36 कम्‍युनिकेशंस सैटेलाइट को अंतरिक्ष में लॉन्च किया था । वनवेब कुल 648 सैटेलाइट ऑर्बिट में भेजने पर भी काम कर रही है । इसरो के जरिए की जाने वाली लॉन्चिंग LVM3 को ग्लोबल कमर्शल लॉन्च सर्विस मार्केट में पहचान दिलाने में मदद करेगा । इसरो के अनुसार वनवेब के इन सैटेलाइट्स को आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र से पृथ्वी की निचली कक्षा में स्थापित करेंगे । अपने प्रोजेक्‍ट के तहत वनवेब का आम लोगों के साथ-साथ सरकारों और बिजनेसेज तक हाई-स्‍पीड इंटरनेट सर्विस पहुंचाने का लक्ष्य है |

ISRO to Launch 36 Satellites

कंपनी ने इन्‍वेस्‍टमेंट के लिए यूटेलसैट कम्युनिकेशंस से ली मदद
सूत्रों की माने तो कंपनी ने इन्‍वेस्‍टमेंट के लिए जापान के सॉफ्टबैंक और यूटेलसैट कम्युनिकेशंस से मदद ली है और इसके अलावा भारती एंटरप्राइजेस भी वनवेब को काफी मदद कर रही है । इस तरह वनवेब ने अबतक कुल 2.4 अरब डॉलर जुटाए हैं । इसी तरह सैटेलाइट इंटरनेट को लोगों तक पहुंचाने के लिए कई देशों की कंपनियां काम कर रही हैं । इनमें एलन मस्‍क की Starlink सबसे बड़ा नाम है । बुधवार को ही स्‍पेसएक्‍स ने एकसाथ 52 स्‍टारलिंक सैटेलाइटों को ऑर्बिट में पहुंचाया है । बात करें वन वेब की तो वह एयरटेल के साथ मिलकर देश में सैटेलाइट इंटरनेट सर्विस शुरू करने की योजना बना रही है । आगामी लॉन्‍च को पूरा करने के लिए पिछले महीने फ्लोरिडा के एक कारखाने से सैटेलाइट्स को सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र में ले जाया गया था ।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *