एक्सीडेंट ने बर्बाद कर दी अनु अग्रवाल की जिंदगी, रातों रात स्टार बनीं आशिकी गर्ल आज कहां है?

Anu Agrawal

Anu Agrawal

साल 1990 में एक फिल्म आई थी जिसका नाम था आशिकी (Ashiqui). इस फिल्म ने पहले अपने पोस्टर से सनसनी फैलाई और फिर ये फिल्म सुपर डुपर हिट हुई। साथ ही इस फिल्म के एक्टर्स रातों रात स्टार बन गए। हर गली मोहल्ले और घर घर में आशिकी के गाने बजने लगे। इस फिल्म को लोगों का खूब प्यार मिला। फिल्म आशिकी की एक्ट्रेस अनु अग्रवाल (Anu Agrawl) लोगों के दिलो पर राज करने लगीं। लेकिन रातों रात स्टार बनीं अनु अग्रवाल ने स्टारडम बस अभी देखा ही था, वो अपनी लाइफ में बहुत कुछ करना चाहती थी कि तभी एक हादसे ने उनकी पूरी जिंदगी ही पलट रख दी।

Anu Agrawal

एक सड़क दुर्घटना (Accident) में उन्हें उन्हें काफी चोटें आई तो वहीं उनका चेहरा पूरी तरह से बिगड़ चुका था उन्हें ठीक होने में काफी लंबा वक्त लगा। लेकिन अब वो फिर से अपनी नॉर्मल लाइफ को जीने की कोशिश कर रही है। वो लौट आई हैं। जो उन्हों ने खो दिया था वो पाना चाहती है।  शोबिज में पैर जमाना चाहती है। हाल ही अनु अग्रावल ने एक चैनल को दिये इंटरव्यू में अपनी जिंदगी से जुड़े हर पहलू पर खुलकर बात की।

आशिकी के बाद कहां गायब हो गईं अनु अग्रवाल?

सुपरहिट फिल्म आशिकी के बाद उन्होंने कुछ खास फिल्म साइन नहीं की क्यों, जिसके जवाब में अनु अग्रवाल ने कहा कि सबसे पहले मैं अपने बारे में सबसे बड़ी गलतफहमियों में से एक को दूर करना चाहती हूं। मेरे इंडस्ट्री को छोड़ने में दुर्घटना किसी भी तरह से नहीं है, मैं उससे पहले ही बाहर आ गई थी। ऐसे में जब मैं सुपर सक्सेसफुल थी। विडंबना यह है कि जब दुनिया ने सोचा कि मेरे पास सबकुछ है, तो मैं सबसे दुखी थी। इसलिए 1994 में मैंने नई फिल्में साइन करना बंद कर दिया। मैंने विदेश यात्रा की और एक टॉप हॉलीवुड एजेंसी ने भी 1996 में मेरे साथ साइन अप करना चाहा।

29 दिनों तक कोमा में रहीं थी अनु

दो साल बाद 1999 में एक दुर्घटना ने अनु की जीवन की दिशा कैसे बदल दी। इसपर उन्होंने कहा, ‘यह सिर्फ कठिन नहीं था, यह जीवन या मृत्यु का मामला था। मैं कोमा में थी। सवाल मेरे ठीक होने का नहीं था, लेकिन क्या मैं जिंदा रहूंगी, इसका था। मैं 29 दिनों तक कोमा में थी। आधा शरीर लकवाग्रस्त था और गंभीर चोटें आई थीं। किसी ने नहीं सोचा था कि मैं कभी खड़ी होऊंगी लेकिन मैंने पॉजिटिव रहने की कोशिश की।’

जब उठी तो शरीर टूट चुका था
उन्होंने आगे कहा, ‘यहां तक कि जब शरीर एक लाख टुकड़ों में टूट गया और कई फ्रैक्चर हुए, जो सभी ने सोचा होगा, उसके उल्टा मुझे पूरा यकीन था कि मैं जिंदा रहूंगी। मुझे याद है जब मैं उठी, तो मुझे लगा कि मैं एक नवजात बच्चे की तरह हूं। लेकिन मुझे वापस चलने में काफी समय लगा, मुझे सालों लग गए।’

जीने के लिए करवाई सर्जरी
अतीत में कुछ लोगों ने एक्ट्रेस को सलाह दी थी कि अगर वो एक्टिंग में वापस आना चाहती हैं, तो कॉस्मेटिक सर्जरी करवाएं। इसके बारे में उन्होंने कहा, ‘आज कोई भी इसका सुझाव नहीं देता है, क्योंकि मैं सभी के देखने के लिए तरोताजा हो गई हूं। दूसरी ओर, अब लोग सोचते हैं कि मेरी सर्जरी हुई है क्योंकि मेरा चेहरा एक दशक पहले के चेहरे से अलग दिखता है। दुर्घटना के बाद मेरी टूटी हड्डियों को ठीक करने के लिए और मेरे शरीर के लिए कई सर्जरी हुई लेकिन बस मेरे जिंदा रहने के लिए।’

योगा ने की मदद
अनु ने कहा, ‘कोई भी सर्जरी आपको चोट पहुंचाती है और आपके शरीर के बाकी हिस्सों को प्रभावित करती है। इसके अलावा, मुझे लगता है कि कॉस्मेटिक सर्जरी प्लास्टिक हैं और मैं किसी भी चीज से आकर्षित नहीं हूं जो प्राकृतिक नहीं है। मेरे योगा ने मुझे बहुत कुछ सिखाया, जहां हम एक अलग हिस्से को चेहरे की तरह नहीं मानते, बल्कि पूरे शरीर को मन और इंद्रियों के साथ व्यवहार करने देते हैं।

अपनी  अब तक की जिंदगी में अनु अग्रवाल ने सुख कम और दुख बहुत ज्यादा देखें है। लेकिन अब वो पूरी तरह से कमबैक के लिए तैयार हैं। जिंदगी को देखने का अब उनका नजरिया बदल चुका है। वो अपनी जिंदगी के लेकर काफी पॉजिटिव हो चुकी हैं।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *