WhatsApp Call: WhatsApp, Google Meet से फ्री कॉल जल्द होगी बंद, जानें क्या है पूरा खबर

WhatsApp Free Calling Will Stop

WhatsApp Free Calling Will Stop

WhatsApp Call: आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अभी हाल ही में दूरसंचार विभाग ने कथित तौर पर भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) से इंटरनेट मैसेजिंग और वॉयस कॉलिंग एप्लिकेशन के नियमन के लिए एक रूपरेखा तैयार करने पर उसके विचार मांगे गए हैं । खबर है कि Meta के स्वामित्व वाले WhatsApp, Signal, Google Meet और इनके जैसे अन्य ऐप और सर्विस जैसे ओवर-द-टॉप (OTT) सर्विस प्रोवाइडर्स पर यह नियम लागू हो सकते हैं । सूत्रों की मानें तो भारत में टेलीकॉम ऑपरेटरों ने कई वर्षों से ट्राई से यह सुनिश्चित करने के लिए कहा था कि टेलीकॉम के लिए उसके नियम इन सर्विस पर भी लागू हों जो समान कॉलिंग और मैसेजिंग की सुविधाएं मुहैया कराते हैं |

WhatsApp Free Calling Will Stop

ट्राई ने इंटरनेट टेलीफोनी और ओटीटी सर्विस प्रोवाइडर्स से माँगा व्यापक संदर्भ
आपको बता दें कि समाचार एजेंसी PTI द्वारा बताया गया कि इंटरनेट टेलीफोनी पर ट्राई की पिछली सिफारिशों को DOT द्वारा स्वीकार नहीं किया गया था, जिसके बाद इंटरनेट टेलीफोनी और ओटीटी सर्विस प्रोवाइडर्स पर व्यापक संदर्भ मांगा गया, जो यूजर्स को कॉल करने और इंटरनेट पर मैसेज भेजने की सुविधा प्रदान करते हैं | TRAI ने पहले कहा था कि OTT सर्विस को विनियमित करने की कोई आवश्यकता नहीं है, और DOT ने पिछले हफ्ते नई टेक्नोलॉजी के साथ बदलते परिवेश के चलते ट्राई से नई सिफारिशों की मांग की है ।

WhatsApp Free Calling Will Stop

ट्राई कई सालों से कर रहा टेलीकॉम ऑपरेटरों के दबाव का सामना
ट्राई ने सिफारिशों में कहा था कि इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर्स (ISP) फोन नेटवर्क पर कॉल करने के लिए इंटरनेट टेलीफोनी दे सकते हैं, अगर उन्होंने रिपोर्ट के अनुसार इंटरकनेक्शन फीस का भुगतान किया और वैध इंटरसेप्शन एक्वपमेंट स्थापित किये हैं | सरकार ने अभी तक ओटीटी सर्विस प्रोवाइडर को विनियमित करने की योजना की आधिकारिक घोषणा नहीं की है । गौरतलब है कि देश में ओटीटी प्लेयर्स के रेगुलेशन को लेकर ट्राई कई सालों से टेलीकॉम ऑपरेटरों के दबाव का सामना करना पड़ रहा है । इस पर दूरसंचार कंपनियों ने तर्क दिया है कि इन सर्विस को लाइसेंस फीस का भुगतान करना चाहिए और वैध इंटरसेप्शन और सर्विस क्वालिटी से संबंधित समान नियमों के अधीन ही रहना होगा |

इसे भी पढ़ें

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *