Infosys: कंपनी का अपने एम्पलॉयस को दिवाली का तौफा, होगी 20-25 प्रतिशत की सैलेरी में वृद्धि

Salary Hikes At Infosys

Salary Hikes At Infosys

Infosys: आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अब देश की दूसरी सबसे बड़ी IT कंपनी इंफोसिस में वर्कफोर्स के बड़े हिस्से की सैलरी में 10-13 प्रतिशत की वृद्धि की जाएगी | और कंपनी के टॉप परफॉर्मर्स को सैलरी में 20-25 प्रतिशत तक फायदा दिया जायेगा । कंपनी ने बताया कि नौकरी छोड़ने की दर (एट्रीशन रेट) में कमी आनी शुरू हो गई है और इस वजह से वह वेज की कॉस्ट को घटाने लगी है | कंपनी ने यूटिलाइजेशन लेवल बढ़ाने, लैटरल हायरिंग में कमी करने और ऑन-साइट स्टाफ की संख्या घटाने के जरिए वेज कॉस्ट पर नियंत्रण करने का फैंसला लिया है । इंफोसिस के एग्जिक्यूटिव वाइस प्रेसिडेंट और ह्युमन रिसोर्सेज के ग्रुप हेड, Krish Shankar का कहना है कि अधिकतर स्टाफ की सैलरी में 10-13 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है, जबकि टॉप परफॉर्मर्स को 20-25 प्रतिशत का फायदा दिया गया है ।

Salary Hikes At Infosys

इंफोसिस ने स्टाफ को बरकरार रखने के लिए उठाए कई अहम कदम
Krish Shankar ने बताया है कि सैलरी में बढ़ोतरी एंप्लॉयी के ग्रेड पर निर्भर करती है, क्योंकि अधिक सैलरी लेने वाले सीनियर मैनेजमेंट को जूनियर स्टाफ की तुलना में कम बढ़ोतरी मिलती है । मौजूदा फाइनेंशियल ईयर की पहली तिमाही में इंफोसिस का एट्रीशन रेट 28.4 प्रतिशत का था, जो दूसरी तिमाही में घटकर 27.1 प्रतिशत रहा । कंपनी ने स्टाफ को बरकरार रखने के लिए कई अहम कदम उठाए हैं । इनमें जल्द प्रमोशन करना और करियर में ग्रोथ के लिए अलग प्रोग्राम शुरू करना शामिल है । पिछले फाइनेंशियल ईयर में कंपनी ने लगभग 40,000 प्रमोशंस दिए थे । यह संख्या इस वर्ष बढ़ सकती है । दूसरी तिमाही में कंसॉलिडेटेड नेट प्रॉफिट 11.1 प्रतिशत बढ़कर लगभग 6,021 करोड़ रुपये रहा । कंपनी के रेवेन्यू में लगभग 23.4 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है और यह 36,538 करोड़ रुपये हो गया है |

Salary Hikes At Infosys

इंफोसिस का फाइनेंशियल ईयर का रेवेन्यू 15-16 प्रतिशत बढ़ा
आपको बता दें कि कंपनी के बोर्ड ने 1,850 रुपये प्रति शेयर के प्राइस पर 9,300 करोड़ रुपये से शेयर्स बायबैक के लिए मजूरी दे दी है । यह प्राइस कंपनी के मौजूदा शेयर प्राइस से थोड़ा अधिक है । इसके साथ ही बोर्ड ने शेयरहोल्डर्स को 16.50 रुपये प्रति शेयर का इंटरिम डिविडेंड देने की भी घोषणा की है । शेयर्स का बायबैक ओपन मार्केट के जरिए होगा । इंफोसिस ने पिछले वर्ष भी लगभग 9,200 करोड़ रुपये के शेयर्स बायबैक किए थे । दूसरी तिमाही में कंपनी का ऑपरेटिंग मार्जिन 1.5 प्रतिशत बढ़ा है । कंपनी का कहना है कि इकोनॉमिक स्थिति को लेकर आशंकाएं बरकरार हैं । हालांकि, इंफोसिस के लिए डिमांड अच्छी बनी हुई है । कंपनी ने मौजूदा फाइनेंशियल ईयर में रेवेन्यू 15-16 प्रतिशत बढ़ने के बारे में बताया है |

इसे भी पढ़ें- 29000 पदों पर निकली बंपर, नौकरी पाने का बड़ा मौका

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *