Diwali Burn Care 2022: अगर दिवाली पर जल जाएं तो तुरंत क्या करें, जानें एक्सपर्ट डॉक्टर्स की सेफ्टी टिप्स

Diwali Burn Care

Diwali Burn Care

Diwali Burn Care 2022: जैसा की हम जानते हैं कि दिवाली पर बड़ी संख्या में लोग पटाखे चलाकर एंजॉय करते हैं, लेकिन कई बार पटाखों की चपेट में आकर लोग जल भी जाया करते हैं और उनके शरीर पर घाव हो जाते हैं | त्योहार के वक्त ऐसे तमाम केस सामने आते हैं | सावधानियों के बावजूद कुछ गलतियों की वजह से लोग इन घटनाओं का शिकार हो जाते हैं | अब सवाल उठता है कि अगर कोई दिवाली पर पटाखे चलाते वक्त जल जाए तो फर्स्ट एड क्या होनी चाहिए | जलने के तुरंत बाद व्यक्ति को क्या करना चाहिए ताकि स्थिति गंभीर ना हो | आज एक्सपर्ट पैनल से जानेंगे कि पटाखों या दीया से जलने की स्थिति में लोगों को क्या करना चाहिए | दिवाली पर अत्यधिक पॉल्यूशन होने पर अस्थमा के मरीजों और बच्चों को क्या सावधानियां बरतनी चाहिए |

Diwali Burn Care

पटाखों से जलने पर एक्सपर्ट्स की राय
आपको बता दें कि नई दिल्ली के सर गंगाराम हॉस्पिटल के प्लास्टिक एंड कॉस्मेटिक सर्जन डॉ. रमन शर्मा के मुताबिक अगर कोई व्यक्ति पटाखों से जल जाए तो सबसे पहले जली हुई जगह को पानी से अच्छी तरह धो लें | इसके बाद जलने वाली कोई क्रीम या एंटीसेप्टिक क्रीम लगाई जा सकती है | फर्स्ट एड के बाद सभी को डॉक्टर से संपर्क करके प्रॉपर ट्रीटमेंट कराना चाहिए ताकि जलने के निशान ना रहें | अगर कोई ज्यादा जल जाए तो ऐसी कंडीशन में उस व्यक्ति के कपड़े काटकर अलग कर देने चाहिए और जली हुई जगह को अच्छी तरह धोकर साफ चादर लपेट लेना चाहिए | इसके बाद तुरंत हॉस्पिटल ले जाना चाहिए | कई बार पटाखों की वजह से लोगों के हाथ या पैर डैमेज हो सकते हैं, इसलिए खतरनाक पटाखे चलाने से बचें | डॉ. रमन शर्मा कहते हैं कि अधिकतर लोग जलने पर तुरंत टूथपेस्ट या हल्दी लगा लेते हैं लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं करना चाहिए | ऐसा करने से जलने वाली जगह अच्छी तरह दिखाई नहीं देती है और वहां पर गंदगी भी जमा हो जाती है | इससे इंफेक्शन बढ़ने का खतरा बन जाता है |

Diwali Burn Care

दिवाली पर अस्थमा के मरीज रहें सावधान
आपको बता दें कि नई दिल्ली के मूलचंद हॉस्पिटल के पल्मनोलॉजिस्ट डॉ. भगवान मंत्री के मुताबिक दिवाली से पहले अस्थमा के मरीजों को अपने डॉक्टर से मिलकर कंसल्ट जरूर कर लेना चाहिए | कई बार ज्यादा पॉल्यूशन होने पर ऐसे मरीजों की दवाओं में बदलाव किया जाता है ताकि उनकी कंडीशन ना बिगड़े | दिवाली के दौरान पॉल्यूशन होने पर अस्थमा के मरीजों को घर के अंदर रहना चाहिए और बाहर जाते वक्त मास्क जरूर लगाना चाहिए | जिन जगहों पर ज्यादा पॉल्यूशन हो वहां जाने से बचना चाहिए और अपनी दवाइयां समय से लेनी चाहिए | अगर किसी तरह की दिक्कत हो या अस्थमा का अटैक आए तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क कर इलाज कराना चाहिए | दिवाली के मौके पर बच्चों का भी खास ख्याल रखना चाहिए |

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *