Honeybee Swarms Produced Electricity: क्या आप जानते हैं? 1 हजार वोल्‍ट तक बिजली पैदा कर सकती हैं मधुमक्खियां, कई वैज्ञानिक रह गए हैरान

Honeybee can produced electricity

Honeybee can produced electricity

Honeybee Swarms Produced Electricity: आपको यह बात जानकर कैसा लगेगा कि अगर आपसे कहा जाये कि मधुमक्खियां भी बिजली पैदा करने में मदद कर सकती हैं । यकीन नहीं होता ना, लेकिन आपको बता दें कि एक हालिया स्‍टडी में यह बताया गया है और यह बात साबित भी हुई है । जर्नल आईसाइंस में प्रकाशित नया शोध कहता है कि मधुमक्खियों के झुंड बिजली उत्पादन में मदद कर सकते हैं? शोध कहता है कि मधुमक्खियां मेघ गर्जना (thunderstorm) के समान विद्युत आवेश (electrical charge) उत्पन्न कर सकती हैं । ब्रिस्टल यूनिवर्सिटी (University of Bristol) के रिसर्चर्स का यह शोध मधुमक्खियों की उपयोगिता का एक नया आयाम सामने लाता है |

Honeybee can produced electricity

इसे भी पढ़ें- पृथ्वी पर पहुंचा इतनी दूर से एक सिग्‍नल, यात्रा 1.9 अरब साल की, जानें क्या है पूरा मामला

पर्यावरण में मौजूद कई जीवों में से एक मधुमक्खियां कर सकती हैं बिजली पैदा
आपकी जानकरी के लिए बता दें कि स्‍टडी के फर्स्‍ट लेखक और जीवविज्ञानी एलार्ड हंटिंग ने (Ellard Hunting) ने सीएनएन से बातचीत में कहा कि य‍ूनिवर्सिटी की टीम विभिन्न जीवों के बारे में अध्ययन कर रही थी, जो पर्यावरण में उपलब्ध स्थिर विद्युत क्षेत्रों (static electric fields) का उपयोग करते हैं । उनका कहना है कि वायुमंडलीय इलेक्ट्रिसिटी ना सिर्फ मौसम की घटनाओं को प्रभावित करती है, यह जीवों को उनका भोजन खोजने जैसे कामों में भी सहायक है | हंटिंग ने उदाहरण देते हुए बताया कि फूलों में एक विद्युत क्षेत्र होता है और मधुमक्खियां इन क्षेत्रों को समझ सकती हैं । फूलों के ये विद्युत क्षेत्र मधुमक्खी द्वारा विजिट किए जाने पर बदल सकते हैं और अन्य मधुमक्खियां उस जानकारी का इस्‍तेमाल यह पता लगाने के लिए कर सकती हैं कि क्या किसी फूल को पहले से ही विजिट किया गया है या नहीं ।

Honeybee can produced electricity

इसे भी पढ़ें- टाइम ट्रैवलर का बड़ा दावा, 1 माह बाद इस तारीख को UFO से आकर इंसानों से मिलेंगे एलियंस

मधुमक्खियां कर सकती हैं 100 से 1000 वोल्ट तक का करंट पैदा
आपको बता दें कि रिसर्चर्स ने मधुमक्खियों के झुंड के दौरान करंट को मापने के लिए और इलेक्ट्रिक फील्‍ड पर नजर रखने के लिए एक कैमरे का इस्तेमाल किया । यहां झुंड से मतलब उन मधुक्खियों से है, जिसमें रानी मधुमक्खी लगभग 12000 अन्‍य मधुमक्खियों के साथ उड़ती है । मधुमक्खियां जब रिसर्चर्स के रिसर्च क्षेत्र से गुजरीं तो उन्‍होंने लगभग तीन मिनट के लिए करंट को ट्रैक किया । यह 100 से 1000 वोल्ट प्रति मीटर तक था । रिसर्चर्स का कहना है कि मधुमक्खियों का झुंड जितना बड़ा होगा, इलेक्ट्रिक फील्‍ड उतना ही अधिक होगा । इस रिसर्च का फौरी तौर पर उपयोग भले ना किया जा सके, लेकिन यह भविष्‍य की रिसर्च और मधुमक्खियों के इस्‍तेमाल को अन्‍य क्षेत्रों में आगे बढ़ाने पर फोकस कर सकता है । यह रिसर्च एक शुरुआती कदम है । अगर वैज्ञानिक मधुमक्खियों का इस्‍तेमाल करके बिजली उत्‍पादन के बारे में सोच को आगे बढ़ाते हैं, तो उन्‍हें इस पर बहुत काम करने की जरुरत है |

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *