Platelets Booster: अगर हो जाये डेंगू तो तुरंत करें पपीते के पत्तों से इलाज, इस तरह से करने हैं इस्तेमाल

If dengue occurs, treat it immediately with papaya leaves

If dengue occurs, treat it immediately with papaya leaves

Platelets Booster: क्या आप जानते हैं कि मच्छर हमारे लिए कितने ज्यादा खतरनाक साबित हो सकते हैं? आपको बता दें कि मच्छर से डेंगू नामक खतरनाक और जानलेवा बीमारी फैलती है | बता दें कि मादा मच्छर के काटने से डेंगू होता है और इंसान को पूरी तरह अपनी चपेट में ले लेता है | डेंगू वाले मच्छर ज्यादातर साफ-सुथरी जगह पर हुआ करते हैं | विशेषज्ञों की माने तो डेंगू के चार प्रकार होते हैं टाइप-1, टाइप-2, टाइप-3, टाइप-4 | कुछ लोग इसे आम भाषा में हड्डी तोड़ बुखार भी कहते हैं | इसमें इम्युनिटी की काफी कमी हो जाया करती है | आपको बता दें कि इसके सबसे ज्यादा मामले अक्टूबर-नवंबर महीने में देखने को मिलते हैं | ऐसे में सावधानियां बरतना और खान-पान का विशेष ध्यान रखना बेहद जरूरी हो जाता है | ऐसे में पपीते पत्ते इस बीमारी के लिए रामबाण इलाज का काम करते हैं |

If dengue occurs, treat it immediately with papaya leaves

इसे भी पढ़ें- कई सदियों का इतिहास संजोए बाँधवगढ़ “बाँधवगढ़ का पुरा वैभव”

पपीते के पत्ते होते हैं डेंगू में रामबाण औषधि
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पपीते के पत्तों में कैंसररोधी गुण पाए जाते हैं जोकि इम्‍यूनिटी को बढ़ाने में काफी मददगार साबित होते हैं | साथ ही बैक्टेरिया की ग्रोथ को रोकने में भी सहायक होते हैं | आपको बता दें कि डेंगू होने से पहले मरीज को तेज बुखार आता है । डेंगू बुखार के लक्षण में सिर दर्द, उल्टी, मतली, आंखों में दर्द और लाल चकत्ते जैसे लक्षण दिखाई देते हैं । इसके अलावा गंभीर अवस्था में पेट दर्द, मसूड़ों या नाक से रक्तस्राव, मल या मूत्र में रक्त, सांस लेने में दिक्कत और थकान जैसे लक्षण रोगी में साफ़ दिखाई देने लगते हैं । यह एक ऐसी बीमारी है, जिसमें व्यक्ति की मौत भी हो सकती है । ऐसे में इस बीमारी में पपीते के पत्ते का जूस फायदेमंद साबित होता है । आइये जानते हैं पपीते के पत्तों की खासियतों के बारे में और कैसे इसके इस्तेमाल से हम इस गंभीर बीमारी से बच सकते हैं |

If dengue occurs, treat it immediately with papaya leaves

इसे भी पढ़ें- अकबर ने अपने शासनकाल में मुद्रा पर छपाई थी सियाराम की तस्वीर, जानें वजह

पपीते के पत्तों से डेंगू बुखार का उपचार
कई विशेषज्ञों का मानना है कि पपीते के पत्ते का जूस डेंगू बुखार को ठीक करने का एक सिद्ध तरीका होता है । विटामिन-सी और एंटीऑक्सिडेंट का समृद्ध स्रोत पपीते के पत्ते इम्यून सिस्टम को बेहतर करने या बढ़ाने में बहुत ही मददगार साबित होते हैं । डेंगू बुखार में अक्सर प्लेटलेट्स की संख्या कम होने लगती हैं। इससे बीमारी से पीड़ित मरीज को तुरंत इलाज की जरूरत होती है । बता दें कि शरीर को पूरी तरह से व्यस्त रखने में प्लेटलेट्स का बड़ा योगदान रहता है । प्लेटलेट्स छोटी रक्त कोशिकाएं होती हैं जो रक्तस्राव को रोकने के लिए आपके शरीर के थक्कों को बनाने में मदद करती हैं । डेंगू बुखार से ग्रसित व्यक्ति के यदि प्लेटलेट्स कम हो रहे हैं, तो पपीते के पत्ते ब्लड प्लेटलेट्स काउंट में तुरंत सुधार करते हैं | आइये इस बीमारी से बचने के लिए पपीते के पत्ते का जूस कैसे बनाएं, जानते है |

  1. सबसे पहले आप एक कप पपीते के पत्ते ले लीजिए ।
  2. इसके बाद ओखली और मूसल के जरिए इसे पीसकर इसका जूस निकाल लें । फिर इसे मरीज को दीजिए ।
  3. आप एक्सपर्ट की सलाह से इसमें शहद या फिर फलों का जूस भी मिला सकते हैं । इससे इसका कड़वा स्वाद बदल जायेगा ।
  4. एक्सपर्ट की मानें तो प्लेटलेट्स कम होने की स्थिति में आपको रोजाना तीन बार दो बड़े चम्मच पपीते के पत्ते का जूस पीना चाहिए | ऐसी ही काम की जानकारी के लिए हमारे न्यूज़ पोर्टल The News Hindi पर विजिट करते रहें |

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *