Planet Killer Monster Asteroid 2022: सूरज के पीछे छिपा हुआ है ग्रहों का हत्यारा एस्टेरॉयड, लगातार पृथ्वी की और बढ़ रहा, वैज्ञानिक भी चिंतित

Solar System's fastest-orbiting asteroid discovered

Solar System's fastest-orbiting asteroid discovered

Planet Killer Monster Asteroid 2022: वैसे तो आयदिन एस्ट्रोइड से सम्बंधित खबर हम आपको बताते ही रहते हैं लेकिन इस बार का जो एस्ट्रोइड है वो वैज्ञानिकों के लिए भी चिंता का विषय बन गया है | आपको बता दें कि 1.5 किलोमीटर चौड़ा एक एस्टेरॉयड यानी उल्कापिंड पृथ्वी की और लगातार बढ़ता जा रहा है | यह इतना खतरनाक है कि इसकी टक्कर से धरती पर जीवन खत्म हो सकता है । फिलहाल ये सूरज के पीछे छिपा है । पिछले 8 सालों में वैज्ञानिकों के नजर में आए एस्टेरॉयड में से यह सबसे बड़ा और खतरनाक है । इसलिए ही इसे प्लैनेट किलर यानी ग्रहों का हत्यारा कहा जा रहा है । इसका साइंटिफिक नाम 2022 AP7 बताया जा रहा है |

Planet Killer Monster Asteroid

इसे भी पढ़ें- ज्युपिटर के Ganymede Moon की अब तक की सबसे शानदार इमेज मिली नासा को

एस्ट्रोइड का व्यास है 1 किलीमीटर से भी ज्यादा, जो बढ़ रह पृथ्वी की और
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सभी एस्टेरॉयड पृथ्वी के लिए खतरनाक नहीं हुआ करते, क्योंकि ये सभी एस्टेरॉयड पृथ्वी के रास्ते पर नहीं होते हैं । वैज्ञानिकों के मुताबिक धरती के आस-पास अलग-अलग आकार के करीब 30,000 एस्टेरॉयड मौजूद हैं । इनमें एक किलोमीटर से ज्यादा व्यास वाले एस्टेरॉयड 850 से ज्यादा हैं । इन सब को नियर अर्थ ऑब्जेक्ट्स कहते हैं । इनमें से किसी के भी धरती से अगले 100 साल में टकराने की कोई आशंका नहीं है । ऐसे में अगर अचानक कोई ऐसे एस्टेरॉयड को खोज लिया जाता है तो वो अपने आकार के हिसाब से खतरनाक साबित हो सकता है | करोड़ों साल पहले पृथ्वी पर से डायनासोर का खात्मा भी एस्टेरॉयड, यानी क्षुद्र ग्रहों के टकराने की वजह से ही हुआ था । यानी एक भारी-भरकम क्षुद्र ग्रह के टकराने से विशालकाय डायनासोर लुप्त हो सकते हैं तो फिर एक दूसरी टक्कर से पृथ्वी पर जीवन भी नष्ट हो सकता है ।

Planet Killer Monster Asteroid

इसे भी पढ़ें- ओजोन होल हर साल होता जा रहा बड़ा, वैज्ञानिक रख रहे तीन साल से नजर

वैज्ञानिकों ने सूरज के पीछे खोजे नए एस्ट्रोइड
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कई देशों की वैज्ञानिकों की एक टीम ने सूरज के पीछे छिपे 3 एस्टेरॉयड का पता लगाया हैं । इनमें से एक प्लैनेट किलर है । यह अंतरिक्ष के उस इलाके में है जहां सूरज बहुत तेज चमकता है । इसी वजह से वहां किसी भी चीज को देखना बड़ा मुश्किल है । लैटिन अमेरिकी देश चिली के विक्टर एम ब्लांको टेलिस्कोप में डार्क मैटर की स्टडी के लिए इस्तेमाल होने वाले हाइटेक इक्विपमेंट की मदद से इस प्लैनेट किलर एस्टेरॉयड को देखा गया है । इसे देखने के लिए वैज्ञानिकों को सूर्यास्त के समय हर रोज सिर्फ 2 से 10 मिनट का समय मिलता पाटा था । केवल इसी दौरान सूरज की रोशनी बहुत हल्की रहती थी । कई ऑब्जरवेटरी यानी बड़ी दूरबीनों को ऑपरेट करने वाले अमेरिकी रिसर्च ग्रुप NOIRLab ने बताया कि यह एस्टेरॉयड पिछले 8 सालों में खोजा गया सबसे बड़ा चट्‌टानी आब्जेक्ट है जो काफी खतरनाक साबित हो सकता है |

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *