Aliens News 2022: यूरोप के पहाड़ों में छुपा है एलियंस का रहस्य, पानी में मिला रिसर्चर को सबूत, जानें पूरा मामला

The secret of aliens is hidden in the mountains of Europe

The secret of aliens is hidden in the mountains of Europe

Aliens News 2022: आपको जानकर हैरानी होगी कि एक जियोलॉजिस्‍ट कारा मैग्नाबोस्को अल्पाइन पर्वत रेंज के गहरे इलाकों में जाकर ऐसी जगहों से पानी के सैंपल इकट्ठा कर रही हैं, जहां लाखों साल से दिन नहीं हुआ, यानी सूर्य की रोशनी तक नहीं पहुंची । सैंपल्‍स में ऐसे प्राचीन सूक्ष्मजीवों (microorganisms) की खोज की जा रही है, जो पृथ्वी की सतह पर पाए जाने वाले सूक्ष्मजीवों से काफी अलग हो सकते हैं | स्‍पेसडॉटकॉम का मानना है कि धरती पर मौजूद हर जीव को जीने के लिए ऑक्‍सीजन की जरूरत होती है, लेकिन कारा जिन सूक्ष्मजीवों की पहचान कर रही हैं, उन्‍हें जीवित रहने के लिए ऑक्सीजन की आवश्यकता ही नहीं । उनका कहना है कि काफी हद तक उन जैसे दिख सकते हैं जो 3.5 अरब साल पहले हमारे ग्रह पर सबसे पहले उभरे होंगे | अनुमान है कि उस समय पृथ्वी के वायुमंडल में बहुत कम ऑक्सीजन होगी ।

The secret of aliens is hidden in the mountains of Europe

इसे भी पढ़ें- 30 हजार Km की स्‍पीड से फिर आ रही पृथ्‍वी की ओर एक बड़ी आफत

अब खुलेगा एलियंस का हर रहस्य
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कारा मैग्नाबोस्को का कहना है कि अल्पाइन पहाड़ों की नम घाटियों में पाए जाने वाले ये सूक्ष्मजीव हमारे सौर मंडल के अन्‍य ग्रहों पर जीवन के बारे में जरूरी जानकारी मुहैया करा सकते हैं । वैज्ञानिक मंगल ग्रह और शनि व बृहस्‍पति के बर्फ से ढके चंद्रमा को एक्‍सप्‍लोर कर सकते हैं । कारा के मुताबिक हम यह समझना चाहते हैं कि अगर किसी ग्रह पर जीवन नहीं है, तो वहां क्‍या प्रोडक्‍ट्स होंगे । मसलन, वहां पानी और पत्‍थरों के रिएक्‍शन से क्‍या होता होगा | दिलचस्‍प यह है कि कारा ने जिस पानी में सूक्ष्मजीवों की तलाश की है, वह पानी पहली नजर में नल से बहने वाले पानी या बारिश के पानी जैसा दिखाई दे सकता है |

The secret of aliens is hidden in the mountains of Europe

इसे भी पढ़ें- 22 फुट लंबा अजगर निगल गया 54 साल की महिला को, आसपास पसरा दहशत का माहौल

रिसर्चर कर रहे एलियंस पर रिसर्च
आपको बता दें कि संवेदनशील वैज्ञानिक उपकरणों की मदद से यह पता चला है कि वह वास्तव में यह पानी बहुत अलग हैं । यह बहुत खारा है और जमीन के ऊपर मिलने वाले पानी की तुलना में इसमें कम ऑक्‍सीजन घुलती है । कारा ने बताया है कि जिस जगह से उन्होंने सैंपल जुटाए हैं वह एक टनल है । बेडरेटो नाम की टनल में दीवारों से टपकता पानी लाखों-करोड़ों साल पुराना हो सकता है | रिसर्चर जानना चाहती हैं कि धरती पर सबसे पहले पनपने वाले जीव कहां से आए होंगे । क्‍या वह पृथ्‍वी की सतह के नीचे चले गए होंगे । क्‍या अन्‍य ग्रहों पर ऐसा कुछ हो सकता है । एलियंस की तलाश में यह रिसर्च भविष्‍य के लिए मददगार होगी |

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *