Vikram-S Launch: अंतरिक्ष के क्षेत्र में भारत ने रचा इतिहास, पहला निजी रॉकेट सफलता पूर्वक लॉन्‍च

Vikram-S Launching Today

Vikram-S Launching Today

Vikram-S Launch: हमारे देश भारत ने कुछ ऐसा कारनामा कर दिखाया है कि जिसे सुनकर आपको बेहद गर्व महसूस होगा | आपको बता दें कि अंतरिक्ष के क्षेत्र में भारत ने इतिहास रच डाला है | आज भारत ने अपना पहला प्राइवेट रॉकेट Vikram-S लॉन्‍च किया है | आपको जानकर हैरानी होगी कि यह भारत के अंतरिक्ष इतिहास में पहली बार है, जब एक प्राइवेट रॉकेट ने स्‍पेस में उड़ान भरी है । इसके अलावा भारत की पहली निजी क्षेत्र की कंपनी में स्काईरूट एयरोस्पेस (Skyroot Aerospace) पहली रॉकेट विकसित करने और उड़ाने वाली कंपनी में शामिल हो गई है | आपको बता दें कि Vikram-S रॉकेट ने आज ही सुबह 11.30 बजे श्रीहरिकोटा (Sriharikota) से उड़ान भरी है । जिसका नाम मिशन प्रारंभ रखा गया है | आइए आपको बताते हैं इस मिशन से जुड़ीं महत्वपूर्ण बातों के बारे में |

भारत के इतिहास में यह था बेहद ख़ास
आज भारत ने अपना पहला प्राइवेट रॉकेट Vikram-S लॉन्‍च किया किया है जोकि हैदराबाद स्थित स्काईरूट एयरोस्पेस द्वारा डेवलप किया गया है । ऐसी खबर है कि इसका नाम भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रम के संस्थापक विक्रम साराभाई के नाम पर रखा गया है । कंपनी के CEO और को-फाउंडर नागा भरत डाका का मीडिया से कहना है कि विक्रम-एस रॉकेट एक सिंगल-स्टेज सब-ऑर्बिटल लॉन्च वीकल है, जो 3 कस्‍टमर पेलोड ले जाने में पूरी तरह सक्षम है । अब तक जितनी भी जानकारी मिली हैं उसके अनुसार राकेट बिल्कुल सफलतापूर्वक लॉन्च हो गया है | नागा भरत डाका का कहना है कि कंपनी ऐसे 3 विक्रम रॉकेट डिजाइन करने में लगी है, जो क्रायोजेनिक ईंधन का उपयोग करेंगे ।

इसे भी पढ़ें- पहली बार दिखे मंगल पर पृथ्‍वी जैसे बादल, वैज्ञानिक हैं हैरान

इसे भी पढ़ें- पहली बार दिखे मंगल पर पृथ्‍वी जैसे बादल, वैज्ञानिक हैं हैरान, मंगल को लेकर किया यह बड़ा खुलासा

इसे भी पढ़ें- नासा ने रच डाला इतिहास, तीसरा मून मिशन लॉन्च, चांद पर इंसान जायेगा अब दोबारा

स्काईरूट एयरोस्पेस रॉकेट विकसित और उड़ाने वाली भारत की पहली निजी क्षेत्र की कंपनी में शुमार
अगर बात करें Vikram-S रॉकेट की तो इसका वजन 545 किलोग्राम और यह लम्बाई में 6 मीटर लंबा रॉकेट है । आज हुए इस लॉन्च में यह अपनी पहली उड़ान में स्पेस किड्ज इंडिया, बाजूमक आर्मेनिया और एन-स्पेस टेक इंडिया के 3 सैटेलाइट्स अंतरिक्ष में लेकर गया है । भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना था कि “रॉकेट लॉन्‍च होने से 3 घंटे पहले उलटी गिनती शुरू हो गई थी”। इसके अलावा उनका कहना था कि अब स्काईरूट एयरोस्पेस रॉकेट विकसित करने और उड़ाने वाली भारत की पहली निजी क्षेत्र की कंपनी के रूप में जानी जाएगी | इस रॉकेट स्टार्टअप की स्थापना जून 2018 में पवन कुमार चंदना और नागा भारत डाक द्वारा हैदराबाद स्थित में हुई थी ।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *