Nasa Moon: अब इंसान रह पायेंगे चन्द्रमा पर भी, Nasa ने तैयार किया पूरा ब्लूप्रिंट

Now humans will be able to live on the moon too

Now humans will be able to live on the moon too

Nasa Moon: चन्द्रमा पर जीवन के लिए कई विकल्प तलाशे जा रहे हैं | कई वैज्ञानिक कई वर्षों से इसी की खोज में लगे हैं कि कैसे चन्द्रमा पर जीवन संभव हो | अब हाल ही में अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने ऐसी संभावना व्यक्त की है कि इस दशक के अंत तक इंसान चंद्रमा पर लंबे समय के लिए रहने में सक्षम हो जायेगा । नासा के ओरियन लूनार स्पेसक्राफ्ट प्रोग्राम के प्रमुख हॉवर्ड हू का कहना है कि “आर्टेमिस मिशन हमें एक स्थायी प्लेटफॉर्म और ट्रांसपोर्टेशन सिस्टम में सक्षम बनाने के साथ साथ यह हमें सीखने की अनुमति भी देता है कि उस डीप स्पेस एनवायरनमेंट में कैसे काम कर सकें” । अभी हाल ही में नासा ने आर्टिमिस 1 मिशन को सफलतापूर्वक लॉन्च करके यह सुनिश्चित कर लिया है कि भविष्य में कब और किस तरह से इंसान दोबारा चांद पर जा पायेगा |

Now humans will be able to live on the moon too

ओरियन स्पेसक्राफ्ट तलाश रहा चन्द्रमा पर रहने लायक जमीन
हू का कहना था कि हम चंद्रमा पर स्थायी कार्यक्रम की दिशा में कार्यरत हैं । ओरियन स्पेसक्राफ्ट की ओर इशारा करते हुए उनका कहना था कि यही वह वीकल है जो इंसान को दोबारा चांद पर लेकर जाएगा । वैसे फ़िलहाल ओरियन स्पेसक्राफ्ट आगे बढ़कर अपना सफर तय कर रहा है । यह अबतक 3 लाख 74 हजार 467 किलोमीटर की दूरी तय कर चुका है | बीते रविवार तक यह चंद्रमा से 63 हजार 570 किलोमीटर दूर था । इस स्पेसक्राफ्ट की स्पीड 600 किलोमीटर प्रति घंटा है । वहीं नासा भविष्य में चाहती है कि इस बार खगोलविद चंद्रमा पर कम से कम दो महीने तक रहें । क्योंकि लंबे समय तक चांद पर रहने और वहां खोज करने से वैज्ञानिकों को सफलताएं निश्चित तौर पर मिलेंगी | कई बड़े वैज्ञानिक मानते हैं कि ओरियन स्पेसक्राफ्ट की इसमें बड़ी भूमिका रहेगी ।

इसे भी पढ़ें- वैज्ञानिकों ने लैब में बना डाला Black Hole, इसके बाद जो हुआ जानकर रह जाओगे दंग

इसे भी पढ़ें- पहली बार दिखे मंगल पर पृथ्‍वी जैसे बादल, वैज्ञानिक हैं हैरान

इसे भी पढ़ें- अब खुलेगी ब्रह्मांड में मौजूद इस अकेली आकाशगंगा की गुत्थी

अब इंसान रह पायेंगे चन्द्रमा पर भी
ओरियन स्पेसक्राफ्ट चंद्रमा पर ऐसी जगहों की तलाश कर रहा है जहां इंसानों के रहने के लिए बेस बन सके । दरअसल नासा चंद्रमा पर आर्टेमिस बेस कैंप बनाने की सोच रहा है । जिसमे एक मून केबिन और एक मोबाइल घर शामिल होगा और इसमें अंतरिक्ष यात्री कम से कम 2 महीने बिता पाएंगे | इस बेस पर एक रोवर होगा जिससे भी वैज्ञानिकों को चंद्रमा की सतह के बारे में जानकारी जुटाने में मदद मिलेगी | अभी चंद्रमा पर कंस्ट्रक्शन एक चुनौतीपूर्ण काम है । अभी हाल ही में फ्लोरिडा सेंट्रल यूनिवर्सिटी की स्टडी में एक नए कंस्ट्रक्शन मटीरियल को बनाया गया है । इस 3D प्रिंटिंग और मटीरियल के इस्तेमाल से चांद पर कंस्ट्रक्शन को मुमकिन कर सकेंगे । इसके अलावा नासा ने चांद पर कम्युनिकेशन स्थापित करने की भी योजना बना ली है, लेकिन यह कह पाना अभी मुश्किल है कि यह कैसे संभव होगा?

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *