NASA Juno Mission: Juno स्पेसक्राफ्ट ने कैप्चर की ज्यूपिटर सहित उसके दो मून की हैरतअंगेज तस्वीर, देखकर रह जाएंगे हैरान

Juno spacecraft captured a stunning picture of Jupiter including its two moons

Juno spacecraft captured a stunning picture of Jupiter including its two moons

NASA Juno Mission: अभी हाल ही में Juno स्पेसक्राफ्ट ने एक ऐसी तस्वीर कैप्चर की है जिसे देखकर आपका दिमाग भी सन्न रह जायेगा | अमेरिकी स्पेस एजेंसी NASA का Juno स्पेसक्राफ्ट जब ज्यूपिटर के पास से उड़ान भर रहा था तभी उसने बादलों के ऊपर की एक ऐसी इमेज को कैप्चर किया जिसमे ज्यूपिटर के दो चाँद भी हैं और उसके साथ IO (आईओ) भी मौजूद है | बताया जा रहा है कि इस आश्चर्यचकित कर देने वाली इमेज को हाल ही में रिलीज की गई, इस इमेज को JunoCam ने एक वर्ष पहले कैप्चर किया था । इस ख़ास इमेज के बारे में वैज्ञानिकों के अलग अलग तथ्य सामने आ रहे हैं | इस इमेज में ज्यूपिटर के घने बादलों के साथ-साथ उसके दो मून्स की तस्वीर भी शामिल है | आइये जानते हैं इस ख़ास इमेज के बारे में विस्तार से |

Juno spacecraft captured a stunning picture of Jupiter including its two moons

ज्यूपिटर के दो मून की हैरान करने वाली तस्वीर आई सामने
वैज्ञानिकों ने बताया है कि इस इमेज को JunoCam ने Juno के सोलर सिस्टम के सबसे बड़े प्लैनेट के निकट 38वीं उड़ान के समय लिया गया है । NASA ने एक स्टेटमेंट जारी की है जिसमे कहा है कि इस इमेज को ज्युपिटर के 14,000 किलोमीटर ऊपर से लिया गया है । जब इस स्पेसक्राफ्ट ने इस इमेज को कैप्चर किया तब इस स्पेसक्राफ्ट की स्पीड 1,98,000 किलोमीटर प्रति घंटा से भी अधिक बताई जा रही है । ऐसी ही इमेजेज को पहले भी Juno कैप्चर कर चुका है । अभी पिछले ही साल की बात है जब इस स्पेसक्राफ्ट ने सोलर सिस्टम के सबसे बड़े मून की इमेजेज को कैप्चर किया था ।

इसे भी पढ़ें- आखिर धरती पर पानी आया कहां से? 4.6 अरब साल पुरानी अंतरिक्ष चट्टान ने उठाया हर रहस्य से पर्दा

इसे भी पढ़ें- अब इंसान रह पायेंगे चन्द्रमा पर भी, Nasa ने तैयार किया पूरा ब्लूप्रिंट

इसे भी पढ़ें- वैज्ञानिकों ने लैब में बना डाला Black Hole, इसके बाद जो हुआ जानकर रह जाओगे दंग

ज्यूपिटर के वातावरण के बारे में रोचक जानकारियां
नासा ने 11 वर्ष पहले इस स्पेसक्राफ्ट को भेजा गया था । ज्युपिटर के चार बड़े मून होने की वजह से इस पर पूर्ण ग्रहण अधिक होता है । क्योंकि अक्सर ये मून ज्युपिटर और सूर्य के बीच आते रहते हैं । Juno मिशन का मकसद सोलर सिस्टम के सबसे बड़े ग्रह पर मौसम और अन्य परिस्थितियों को समझना है । अब से लगभग 6 वर्ष पहले ही यह ज्युपिटर के वातावरण में दाखिल हो चुका था | तभी से यह इसके आस पास ही है । इसने इस ग्रह के बारे में ऐसी ऐसी जानकारियां मुहैया कराई हैं जिसने अब तक सबको चौंका रखा है । कई वैज्ञानिक इन इमेजेज के जरिये ज्युपिटर के बारे में जानकारियां जुटाने में लगे हैं | जिससे ज्युपिटर के वातावरण को समझने में मदद मिल सके |

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *