October 2, 2023

Climate Change Result: धरती का बढ़ता तापमान है जीवों के लिंग बदलने की वजह, वैज्ञानिक भी हैं हैरान

The increasing temperature of the earth is the reason for changing the sex of the organisms

The increasing temperature of the earth is the reason for changing the sex of the organisms

Climate Change Result: क्या आप जानते हैं रेंगने वाले जीवों की कई प्रजातियां पर्यावरण के बढ़ते तापमान के कारण विलुप्त होने की कगार पर पहुंच गई हैं | आपको बता दें कि जीव-जंतुओं पर अध्य्यन करने वाले कई वैज्ञानिक मानते हैं कि बढ़ता तापमान रेंगने वाले जीवों का लिंग परिवर्तन होने के लिए पूरी तरह से जिम्मेदार है | यह परिवर्तन व्यस्क जीवों की तुलना में जो भ्रूण अवस्था में हैं उनमे ज्यादा देखने को मिल रहा है | क्योंकि अब अक्सर क्लाइमेट चेंज के कारण मौसमी गतिविधियों में बड़ा बदलाव देखने को मिल रहा है | अगर पिछले कुछ सालों की बात करें तो जलवायु में जबरदस्त बदलाव देखने को मिला है जिस वजह से अब लगातार मौसम चक्र बदलते आ रहे हैं | वैज्ञानिक इस बात को लेकर काफी चिंता में हैं और इसकी सही वजह तलाशने में लगे हैं क्योंकि इस वजह से कई प्रजातियां विलुप्ति के पास हैं |

The increasing temperature of the earth is the reason for changing the sex of the organisms

इन जीवों पर शोध के बाद वैज्ञानिक हैं हैरान
जैसा की हम अब अपने पर्यावरण में लगातार अचानक से बदलाब देख रहे हैं इसमें बेमौसम बारिश, बाढ़, बवंडर, भूस्खलन जैसी घटनायें भयानक रूप से सामने आ रही हैं | जिस कारण दुनिया में ऐसी कई प्रजातियां है जिनपर इसका खतरा साफ़ मंडराते देखा जा सकता है | इनमे से कई रेंगने वाले जीवों की प्रजातियां जैसे कि सांप, छिपकली और मगरमच्छ जैसे जीव पर्यावरण के इस बढ़ते तापमान से बहुत ज्यादा प्रभावित हुए हैं | इसका जीता जागता उदाहरण हैं आस्ट्रेलिया की ड्रैगन छिपकलियां, क्योंकि वहां ड्रैगन छिपकलियों में नर छिपकलियों की संख्या बहुत ही तेजी से कम हो रही हैं वहीं मादा छिपकलियों की संख्या में बढ़ोतरी देखी गई है | इसपर शोध के बाद वैज्ञानिकों ने पाया कि बढ़ता तापमान छिपकलियों का लिंग निर्धारण कर रहा है, जोकि हैरान करने वाला है |

इसे भी पढ़ें- Juno स्पेसक्राफ्ट ने कैप्चर की ज्यूपिटर सहित उसके दो मून की हैरतअंगेज तस्वीर

इसे भी पढ़ें- आखिर धरती पर पानी आया कहां से? 4.6 अरब साल पुरानी अंतरिक्ष चट्टान ने उठाया हर रहस्य से पर्दा

इसे भी पढ़ें- अब इंसान रह पायेंगे चन्द्रमा पर भी, Nasa ने तैयार किया पूरा ब्लूप्रिंट

धरती का बढ़ता तापमान है इन जीवों की विलुप्ति का कारण
वैज्ञानिकों ने इन जीवों के अध्ययन में इस बात का खुलासा किया कि जब भ्रूण बनने का शुरुआती दौर चलता है तो भ्रूण विकास के लिए एक उपयुक्त तापमान से ज्यादा हो जाने पर उसका लिंग बदल जाता है | इस प्रक्रिया को वैज्ञानिक टीएसडी यानीकि टेम्परेचर डिपेंडेंट सेक्स डिटरमिनेशन कहते हैं | ऑस्ट्रेलिया की यूनिवर्सिटी ऑफ कैनबेरा के वैज्ञानिकों ने इस शोध में पहले ही जान लिया था कि वातावरण का बढ़ता तापमान छिपकलियों के लिंग निर्धारण में अहम भूमिका निभा सकता है | इस शोध के दौरान 130 ड्रैगन छिपकलियों के जीनोम पर अध्य्यन हुआ | फीमेल छिपकली में ZW सेक्स क्रोमोजोम और मेल छिपकली में ZZ क्रोमोजोम होते हैं | शोध में पाया गया कि अगर अंडों को उपयुक्त तापमान से अधिक गर्मी मिली तो मेल ड्रैगन के क्रोमोजोम होने के बावजूद भी भ्रूण मादा ही बनेगा | ऐसे में अगर धरती का तापमान ऐसे ही बढ़ता रहा तो इस तरह की प्रजातियां एक दिन विलुप्त हो जायेंगी |

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *