February 27, 2024

Solar Cooking Stove: बिना रसोई गैस और बिजली के बनेगा खाना, मात्र 12 हजार में जिंदगीभर बनाएँ खाना

Solar Cooking Stove: पहले जंगल की लकड़ी से खाना बनता था लेकिन इससे जंगल उजड़ने लगे, फिर रसोई गैस आई, लेकिन रसोई गैस की बढ़ती केमतों से हर कोई परेशान है, बिजली तो उससे भी महंगी है, ऐसे में खाना बनाने का कोई और विकल्प तलाशा जाने लगा।

सूर्य नूतन

नई दिल्ली : देश की सबसे बड़ी तेल कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (Indian Oil Corporation) ने रसोई गैस का ऑप्शन तलाश लिया है, जो गैस लीगों का बजट बिगड़ रही थी उससे जल्द ही लोगों को राहत मिलने वाली है। इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन ने सोलर कुकिंग स्टोव बनाया है, सौर चूल्हा (Solar Cooking Stove) जो सिरज की किरणों से रिचार्ज किया जा सकता है। सबसे बड़ी बात यह है कि इस चूल्हे को एक बार लागाने के बाद रख-रखाव पर कोई खर्च नहीं आएगा। बड़ी बात यह है कि यह सौर चूल्हा जीवाश्म ईंधन (Fossil Fuel) का एक अच्छा विकल्प होगा। इस चूल्हे का नाम सूर्य नूतन (Surya Nutan) रखा गया है।

सूर्य नूतन

यह सोलर कुकर (Solar Cooker) सामान्य सोलर कुकर से अलग है, दरअसल इसे सीखे धूप में नहीं रखना पड़ता है। सूर्य नूतन को फरीदाबाद में आईओसी (IOC) के अनुसंधान और विकास विभाग (R&D Wing) ने विकसित किया है, सूर्य नूतन में एक केबल लगी होती है। यह केबल छत पर लगी हुई सोलर प्लेट से जुड़ी होती है। सोलर प्लेट से जो ऊर्जा पैदा होती है, वह केबल के जरिए चूल्हे तक पहुंचती है। इस ऊर्जा से ही सूर्य नूतन चलता है। सोलर प्लेट सौर ऊर्जा को पहले थर्मल बैटरी में स्टोर करती है। इस ऊर्जा से रात में सुर्यास्त के बाद भी खाना बनाया जा सकता है। सूर्य नूतन से चार लोगों के लिए तीन टाइम का खाना आसानी से बनाया जा सकता है।

इसे भी देखें- Anti Alcohol Helmet: अब शराब पीकर नहीं चला सकेंगे बाइक, स्कूल के बच्चों ने बना डाला ऐसा Helmet

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *